Hindi Writings (रचनाएं)  : (कुछ खंड निर्माणाधीन)
PDF files may be viewed in Internet Explorer

साहित्यिक विमर्श (लेख) : वे लेख जो अभी पुस्तक रूप में नहीं आये
           लेखमाला-1    
                             1- कबीर
                                              2- तुलसीदास

           लेखमाला-2
                               1. निराला: निराला काव्य का वैचारिक आधार
                                                2. महादेवी: महादेवी वर्मा के गीतः उत्क्रांति की ओर
                                                3. मुक्तिबोध: ‘भूल-ग़लती’ कविता पर विवाद
                                                 4. फ़ैज़ अहमद फ़ैज: निर्वासन के दर्द का अहसास
                                                  5. शमशेर:      क: ‘अमन का राग’
                                                                    ख: शमशेरः ‘इतने पास अपने’
                                                    6. शील:  क: अडिग प्रतिबद्धता की मशाल
                                                                 ख: शील की कविता
                                                    7. त्रिलोचन की कविताई

             लेखमाला-3
                               

                                     1. रघुवीर सहाय : सामाजिक न्याय और बराबरी के मूल्यों के कवि

                                      2. अपने समय के आर पार देखता कवि: रघुवीर सहाय

                                       3. विजयदेवनारायण साही की कविता

                                        4. धूमिल की कविता

                                         5. समकालीन जनवादी कविता: एक विकसती धारा

                                          6. समकालीन जनवादी कविता की रचनाप्रक्रिया

                                           7. अंतर्वस्तु व रूप: रूपवाद और सौंदर्यवाद


                         

             लेखमाला-4
                                   

                                            1. आचार्य रामचंद्र शुक्ल की समीक्षा पद्धति

                                            2. डा. नामवरसिंह की समीक्षा: निषेध का निषेध

                                            3. मुक्तिबोध का आलोचनात्मक विवेक

                                            4. हिंदी समीक्षा में रूपवाद का एक नया शगूफ़ा

                                             5. जगदीश गुप्त की त्रयी-1 की भूमिका बनाम बौद्धिक दिवालियापन

                                             6. सौंदर्य-चेतना की रचना-प्रक्रिया

                                             7. जनवाद की अवधारणा

                                              8. ओमप्रकाश ग्रेवालः विचारधारा के सवाल

                                              9. उत्तरआधुनिकतावाद और गुजरात

                                             10.‘लोकधर्मीआलोचना का विचारधारात्मक आधार

                                             11. ‘आलोचनाकी पुनर्नवता

                                             12. क्रिस्टोफ़र कॉडवेल: एक प्रेरक मार्क्सवादी युवा

                                             13. ला क्लेज़िओ (नोबेल पुरस्कार विजेता 2008)

                                             14. महमूद दरवेश: फ़िलिस्तीन की क्रांतिकारी आवाज़


         लेखमाला-5              
                           आलोचनात्मक विमर्श
         लेखमाला-6
                           वैचारिक विमर्श
           
         
किताबें :
                        प्रहार स्याह रात पर
                                मुक्तिबोध के प्रतीक और बिंब
                                जनवादी समीक्षा : नया चिंतन, नये प्रयोग 
                                खोलो बंद झरोखे
                                आलोचना की शुरुआत
                                आलोचना यात्रा
                                हिंदी कथा-साहित्य : विचार और विमर्श

                         भारतीय संस्कृति (अप्रकाशित)